Subscribe Us

मतलब कुछ भी आप कर सकते हो__हिन्दुओ के साथ जो होरहा है क्या वो बर्दस्तयोग है क्या?

पटना मैं माँ सारधे की मूर्ति विसर्जन करते वक़्त लालबाग़ के मजिदों पर से बम और गोलिया चलाई गई है जिस मैं माँ की मूर्ति को भी छति पहुची है और कई लोग भी घायल हुए है। पर इश्के बारे मैं किसी भी राजनेताओं को कोई भी जानकारी नही होगी क्योंकि यहाँ पे मुसलमानों के दुआरा ऐसा किया गया हैं। पत्रकारों ने तो इसे एक अलग ही तरीको से हमारे सामने पेश किया है। पत्रकारों ने तो इसे दो गुटों मैं लड़ाई की दिशा दिखा कर इसका मोर ही बदल दिया है।
ऐसा एक बार नही हुआ है कि हिन्दुओ की शोभायात्रा मैं मुसलमानों दुआरा ऐसा किया गया हो।
साहीन बाघ पे तो सबका नजर है पर हिन्दुओ के साथ कुछ व होजाये किसी को भी कोई फ्रक नही पड़ने वाला।
स्टूडेन्ट दुवारा या किसी अन्य दुआरा प्रोटेस्ट किया जाता है तो वहाँ पे तुरन्त पुलिस की लाठिया चलने लगती है पर अभी कहाँ गया प्रशासन का काम?

क्या हिन्दुओ को न्याय नही दे सकती सरकार?
हर बार मुसलमानों दुवारा ऐसा होता है पर सरकार दुवारा कोई व कारवाई नही की जाती है क्योंकि उन्हें वोट बैंकिंग की राजनीति करनी है इस जनता के कष्ट उन्हें उस से कोई मतलब नही है।

Post a Comment

0 Comments